माँ (तेरी याद )

कल जब सुबह उठके कालेज जा रहा था , अचानक लगा कि कोई रोक लेगा मुझे और कहेगा , खड़ा खड़ा दूध मत पी हज़म नहीं होगा…… Read more “माँ (तेरी याद )”