शिक्षक – सच्चा मार्गदर्शक

शिक्षा का महत्व जो समझाए
कामयाबी की पहली कुंजी जो बन जाए
वही सही मायने में शिक्षक कहलाये

खुद को खुद से जुड़ने का रास्ता जो दिखलाये
आशाओं के दीप जो प्रज्वलित करवाए
वही सही मायने में शिक्षक कहलाये

भीतर के अंधकार को रोशनी से जो हटाए
खाली दिमाग़ को किताबी ज्ञान से भर जाए
वही सही मायने में शिक्षक कहलाये

सच्चे इंसान को अच्छाई से नाता समझाये
और सही पथ पर चलने का पाठ जो पढ़ाए
वही सही मायने में शिक्षक कहलाये

धरम से भरे सुराही से रसपान जो कराए
क़र्म और मेहनत की प्राथमिकता बतलाए
वही सही मायने में शिक्षक कहलाये

अच्छे बुरे का सही से पहचान करवाए
सच और झूठ के अंतर को समझाए
वही सही मायने में शिक्षक कहलाये

गँवार को नसीहतों का मोहताज बनाए
सपनो को उड़ान भरने का चस्का लगाए
वही सही मायने में शिक्षक कहलाये

करिश्मा एक बार नहीं कई बार कर दिखाए
धन से ज़्यादा ज्ञान सर्वोपरि को हर हाल समझाए
वही सही मायने में शिक्षक कहलाये

एकता में अनेकता से रहने का जोड़ बतलाए
चाँद से हमारी दूरी का आसान गणित समझाए
वही सही मायने में शिक्षक कहलाये

सोए मन को भागता हुआ घोड़ा जो बनाए
सोच के सागर में कई बार गोते मरवाये
वही सही मायने में शिक्षक कहलाये

ईश्वर के तुल्य सम्मान जो पाए
ईश्वर के पहले शिष्य जिसके पाव पखाए
वही सही मायने में शिक्षक कहलाये

भवसागर में डूबती नैया जो पार लगाये
मोक्ष के रास्ते से सारी उलझने मिटाए
वही सही मायने में शिक्षक कहलाये

उनके सिखाए रास्ते को अगली नस्ल तक पहुँचाए
उनकी आशाओं को पूर्ण करके हम दिखलाए
वही सही मायने में असली शिष्य कहलाये

2 thoughts on “शिक्षक – सच्चा मार्गदर्शक

Leave a Reply